सही डोमेन नाम कैसे ख़रीदे वेबसाइट के लिए

Subscribe to our newsletter!

[newsletter_form type=”minimal”]

डोमेन नेम क्या है?, [domain name kya hai?], सही डोमेन कैसे ख़रीदे, डोमेन लेते समय किन बातो का ध्यान रखना चाहिए, अच्छा डोमेन नाम कैसे सेलेक्ट करे, डोमेन नाम ख़रीदे, डोमेन नाम खरीदने के लिए अच्छी वेबसाइट कोनसी है….

दोस्तों वेबसाइट बनाना चाहते हो तो आपको कोनसी चीज़ो की जरुरत सबसे पहले लगती है। अगर अपने पहले कोई वेबसाइट या ब्लॉग बनाया होगा तो आपको वो महत्वपूर्ण चीज़े पता ही होगी। किसी भी वेबसाइट को बनाने के लिए सबसे जरुरी होता है वेबसाइट का डोमेन नाम और दूसरी होस्टिंग।

डोमेन नाम क्या है? सही डोमेन कैसे ख़रीदे वेबसाइट के लिए
डोमेन नाम क्या है? सही डोमेन कैसे ख़रीदे वेबसाइट के लिए

दोस्तों होस्टिंग को हम किसी और आर्टिकल में देखेंगे पर अभी हम इस वेबसाइट ज्ञान आर्टिकल में देखने वाले है की आखिर डोमेन नाम होता क्या है? सही डोमेन आपके वेबसाइट के लिए कैसे चुने और कहासे आपको डोमेन खरीदने चाहिए।

डोमेन नाम क्या होता है? – What is domain name in Hindi

डोमेन नाम असल में आपके वेबसाइट का एड्रेस होता है जो यूजर यानी उपयोगकर्ताओं को आपके वेबसाइट तक पहुंचाने में मदत करता है ये होता है वेबसाइट डोमेन नाम। और सीधे शब्दों में समझने के लिए समझो अगर आपका घर आपकी वेबसाइट है तो डोमेन नाम उसका एड्रेस यानी पता हुवा

दोस्तों और समझने के लिए, इंटरनेट ये एक बड़ा नेटवर्क यानी जाल होता है जो दुनिया के सभी कम्प्यूटर्स को कनेक्ट मतलब जुड़ने का काम करता है। अब इस दुनिया में तो बोहोत सारे कम्प्यूटर्स होते है जिनको एक यूनिक यानी अद्वितीय IP एड्रेस सौंपा होता है जो सबसे अलग होता है। उदाहरण के लिए किसी कंप्यूटर का IP एड्रेस ऐसा हो सकता है : ६६.७६२.६५.१

अब इस IP नंबर से हम उस कंप्यूटर तक पहुंच सकते है। पर यहापर एक संकट है की ये एड्रेस याद रखने में बोहोत मुश्किल है। समझो अगर किसी और कंप्यूटर तक पहुंचना है हमे उस कंप्यूटर का भी IP एड्रेस ढूँढना होगा और फिर हम उसतक पहुंच सकते है। लेकिन इस संकट को डोमेन नाम ने दूर कर दिया जिससे हम सिर्फ डोमेन नाम याद रखकर उस वेबसाइट तक बड़ी आसानीसे जा सकते है।

दोस्तों कल्पना कीजिये हमे वेब साइट्स तक पहुंचने के लिए इन IP अदड्रेससेस का इस्तेमाल करना पड़ता तो क्या होता। जब भी आप होस्टिंग खरीदते हो तब उस होस्टिंग को भी यूनिक IP एड्रेस दिया जाता है जिससे आपका यूजर साइट तक पहुंच सके पर यूजर नंबर टाइप नहीं करता वो तो अपने ख़रीदा डोमेन नाम को ब्राउज़र को एड्रेस बार में टाइप कर आपके साइट तक पहुँचता है।

तो ये होता है डोमेन नाम आशा करता हु आपको समझ आया होगा दोस्तों अब हम वेबसाइट के लिए सही और अच्छा डोमेन कैसे ले ये बात करेंगे।

सही डोमेन नाम कैसे सेलेक्ट करे – How to choose domain in Hindi

बोहोत ऐसी चीज़े है की कैसे आप सही डोमेन नाम को चुन सकते हो। अब में आपको कुछ पॉइंट्स बताऊंगा जिसका आपको डोमेन खरीदते समय ध्यान रखना है। तो चलिए एक एक कर देखते है।

डोमेन नाम छोटा होना चाहिए – Use short domain name in Hindi

दोस्तों आपका डोमेन नाम छोटा होना चाइये छोटा मतलब सिर्फ २ या ५ अक्षरों का नहीं छोटा मतलब सिर्फ २ से ३ शब्दों का होना चाहिए। अब आप कहोगे छोटा क्यों क्युकी छोटा डोमेन नाम होने से याद रखने में आसानी होती है। अगर आप बड़ा नाम रखोगे तो यूजर को याद रखने में मुश्किल होगी और वो भूल जायेगा।

उदहारण के लिए toolsandjobs.info ये एक मेरा डोमेन है जिसमे सिर्फ ३ शब्द है जो टूल्स एंड जॉब्स है।

डोमेन नाम में कीवर्ड्स इस्तेमाल करो – use keywords in domain Hindi

दोस्तों डोमेन नाम खरीदने के समय ये पॉइंट बोहोत महत्त्व का है क्युकी इसमें आपके वेब साइट का कीवर्ड्स आएगाकीवर्ड्स यानी वो शब्द होते है जिसके ऊपर आप ये वेबसाइट बना रहे हो। समझो अगर आप स्वास्थ्य और फिटनेस के संबंध में साइट बना रहे हो तो आपको डोमेन नाम में स्वास्थ्य और फिटनेस से मुलते जुलते कीवर्ड्स पर डोमेन खरीदना चाहिए।

उदहारण के लिए toolsandjobs.info ये वेबसाइट में स्टूडेंट्स के लिए टूल्स और उनके लिए जॉब्स बताता हु तो मैंने टूल्स एंड जॉब्स ये कीवर्ड्स अपने डोमेन में डाले।

डोमेन में नंबर या डैश का यूज़ न करे – Don’t use number or dash Hindi

वैसे नंबर यूज़ करने से तो कोई दिख्खत नहीं होती पर यूजर को याद रखने में प्रॉब्लम आती है इसलिए नंबर का यूज़ न करे तो बेहतर है। अब डैश का तो यूज़ करो ही मत क्युकी डैश से भी यूजर को टाइप करने में दुविधा आ सकती है जिससे लोग आपतक नहीं पहुंच सकेंगे।

डोमेन नाम का उच्चारण or स्पेलिंग आसान हो – spelling & pronounce easy Hindi

ये भी डोमेन नाम लेते समय ध्यान देना के लिए इम्पोर्टेन्ट है। आप जो भी डोमेन नाम खरीदेंगे उसका उच्चारण और स्पेलिंग यानी वर्तनी आसान हो जिससे लोग बड़ी आसानीसे टाइप कर सके और आपतक पहुंच सके। उच्चारण और स्पेलिंग आसान होने से ब्रांडिंग भी होती है और सुनने में भी अच्छा लगता है।

उदहारण के लिए टूलसंडजॉब्स.इन्फो में सारे कीवर्ड्स उच्चारण और स्पेलिंग में आसान है। जिससे लोग आसानीसे आ सकते है।

सही एक्सटेंशन चुनो – Choose right extension

डोमेन नाम में सही एक्सटेंशन चुनना भी महत्त्व होता है। डोमेन नाम एक्सटेंशन यानी डोमेन नाम के बाद लगने वाला वर्ड होता है। वैसे तो कही सारे डोमेन एक्सटेंशन मौजूद है पर उनमेसे सही लेना जरुरी है। डोमेन एक्सटेंशन जैसे .COM, .ORG, .NET, .IO ये कुछ टॉप लेवल के डोमेन एक्सटेंशन है जो आपको लेने ही चाहिए।

अगर आप किसी विशिष्ट देश को लक्ष्य करना चाहते हो तो आप इंडिया के लिए .IN, यूनाइटेड किंगडम के लिए .UK भी हो। लेकिन मेरे ख्याल से आपको टॉप लेवल डोमेन को ही चुनना चाहिए क्युकी वो प्रेफ़ेरबले होते है और जल्दी ही रैंक होते है।

उदाहरण के लिए hindimetech इस को आप डोमेन लेना चाहते हो तो आप .COM के लिए अवेलेबल है क्या वो देखो अगर नहीं है तो फिर आप .in के लिए जा सकते हो अगर ये भी नहीं है तो आप कोई और जैसे .info, .ORG, .NET, .IO ले सकते हो।

डबल अक्षरों को यूज़ न करे – Don’t use double letters Hindi

डोमेन नाम लेते समय शब्दों में दो दो अक्षर इस्तेमाल न करे।

उदाहरण के लिए letssecret ये एक डोमेन नाम समझो इसमें s दो बार लगातार आया है तो ऐसे डोमेन भी ना उसे करे।

डोमेन नाम generators का यूज़ करो – Use generators for domain Hindi

दोस्तों कुछ लोगो को डोमेन नाम के लिए आइडियाज नहीं आते तो इस स्थिति में वो लोग डोमेन नाम जनरेटर्स का इस्तेमाल कर सकते हो।

leandomainsearch ये एक वेबसाइट है जो आपको डोमेन नाम के आइडियाज देंगे। आपको सिर्फ इस वेबसाइट आकर आपके टॉपिक को सर्च करना है और आपको कई सारे आइडियाज मिल जायेंगे जहासे आप सही डोमेन चुन सकते हो

होस्टिंग के साथ डोमेन फ्री से डोमेन लो – Free domain with hosting Hindi

दोस्तों होस्टिंग के लिए अलग पैसे और डोमेन खरीदने के लिए अलग पैसे क्यों दे। जब वेब होस्टिंग के साथ फ्री में डोमेन मिल रहा हो हां दोस्तों सही सुना आपने आज में आपको एक ऐसी होस्टिंग कंपनी बताऊंगा जहासे आप होस्टिंग बिलकुल मुफ्त में डोमेन ले।

दोस्तों आप डोमेन ले रहे हो मतलब आप वेबसाइट बना रहे हो इसका मतलब आपको होस्टिंग तो खरीदनी पड़ेगी लेकिन अगर आप ब्लूहोस्ट से होस्टिंग खरीदते हो तो आपको फ्री में डोमेन भी मिलेगा और बोहोत कुछयहापर क्लिक करके आप डिस्काउंट में होस्टिंग के साथ फ्री डोमेन और SSL भी मुफ्त पाओगे।

मेरी भी यही सलाह है की आप फ्री डोमेन यहासे पाए क्युकी में भी यही करता हु।

get free domain with hosting bluehost in hindi
get free domain with hosting bluehost in hindi

दोस्तों कुछ फेमस और पॉपुलर डोमेन रेजिस्ट्रार्स से भी आप डोमेन ले सकते हो। में namecheap और bigrock से डोमेन लेने की सलाह दूंगा।

दोनों भी अच्छे और सस्ते डोमेन्स बेचते है।

अगर आप namecheap से लेना चाहते हो तो यहाँ क्लिक करे और bigrock से लेना चाहते हो तो यहाँ क्लिक करे।

अंतिम शब्द – Ending words

तो दोस्तों अगर ये सलाह आप फॉलो करते हो तो आप जो भी डोमेन लेंगे वो अच्छा ही लेंगे। लेकिन होस्टिंग के साथ फ्री मिलने वाले डोमेन के साथ आप ब्लूहोस्ट से ले सकते हो। तो आशा करता हु की डोमेन नाम क्या है और सही डोमेन कैसे चुने ये समझ आया होगा।

ऐसीही ज्ञान के लिए निचे दिए गए फॉर्म में अपना ईमेल डालके अभी हमारे कम्युनिटी से जुड़ जाये और अपने इनबॉक्स में सीधा पाए।

सामान्य प्रश्न – FAQ’s

डोमेन नाम के कितने और कोणसे प्रकार है?

एक बार आप डोमेन क्या है ये समझ गए तो अब आपको समझना होगा डोमेन नाम के प्रकार कितने और कोनसे है।
ICANN यानी (Internet Corporation for Assigned Names and Numbers) एक कॉर्पोरेशन है जो डोमेन नाम को संभालने का काम करते है। उन्होंने डोमेन को 5 प्रकारों में विभाजित किया है।
१. टॉप लेवल डोमेन [TLD] :- टॉप लेवल डोमेन जो इंटरनेट पर हाई लेवल वाले होते है जिसे खुद गूगल भी लेने की सलाह देता है और में भी। टॉप लेवल डोमेन को लोग ज्यादा पसंद करते है क्युकी इंटरनेट पर ये हाई डोमेन होते है।
उदा, .com, .net, .
२. कंट्री कोड टॉप लेवल डोमेन [ccTLD] – ये डोमैंस कंट्री के लिए होते है जो हर एक कंट्री के लिए होते है। पर आप इसे तभी इस्तेमाल करे जब आपको किसी देश को लक्ष बनाना हो। मतलब अगर आप .in लेते हो तो वो सिर्फ इंडिया के लिए टारगेट होगा।
उदा, .in, .uk, .us,…
३. जेनेरिक टॉप लेवल डोमेन्स [gTLD] :- जेनेरिक टॉप लेवल डोमेन्स भी कुछ टॉप लेवल डोमेन जैसे ही होते है पर थोड़े अलग है। इस प्रकार में डोमेन जैसे .edu जो किसी स्कूल या कॉलेज ले सकता है। .mil जो एक्सटेंशन ख़ास मिलिट्री के लिए है और .org जो किसी आर्गेनाईजेशन इस्तेमाल कर सकते है।
४. सेकंड लेवल डोमेन्स :- सेकंड लेवल डोमेन्स कुछ इस प्रकार के होते है .gov.in , .co.in , .org.in जिसे हम सेकंड लेवल कहते है।
५. थर्ड लेवल डोमेन :- थर्ड लेवल डोमेन जो सेकंड लेवल के बाद आते है जिसे हम सब्डोमैन [subdomain] भी कह सकते है। क्युकी ये कुछ इस प्रकार के होते है www.spaceinhindi.in जिसमे www ये थर्ड लेवल डोमेन है।

किसी वेबसाइट को रजिस्टर करने की विधि क्या है?

किसी भी वेबसाइट को रजिस्टर करने के लिए सबसे पहले आपको उस नाम का डोमेन खरीदना होगा और उसके बाद वेब होस्टिंग जैसे की मैंने ऊपर बताया की डोमेन अलग और होस्टिंग अलग क्यों ख़रीदे जब डोमेन होस्टिंग खरीदने के साथ फ्री में आ रहा है। मैंने ऊपर भी बताया है ब्लूहोस्ट जो होस्टिंग कंपनी है यहापर आपको होस्टिंग खरीदते समय मुफ्त में डोमेन मिलेगा।

तो अभी ज्यादा डिस्काउंट और ऑफर्स के लिए यहाँ क्लिक करके आप होस्टिंग के साथ डोमेन और कुछ अन्य भी मुफ्त पा सकते हो।

आपको डोमेन रजिस्टर करने की आवश्यकता क्यों है?

जब भी वेबसाइट बनाने के बारे में सोचते हो तो दो चीज़े सबसे महत्त्व की होती है और वो है डोमेन और होस्टिंग। डोमेन के बिना आप आपके वेबसाइट को चला नहीं सकते। और डोमेन लेने के बाद उसे होस्टिंग से जोड़ने पर आप आपकी वेबसाइट को चला सकते हो।

लेकिन डोमेन को रजिस्टर करने की आवश्यकता क्यों है? क्युकी वेबसाइट के लिए अच्छा डोमेन लेना अच्छी बात होती है और डोमेन टॉप लेवल वाला भी होना चाहिए। और अचे नाम वाले टॉप लेवल डोमेन पहले से ही किसीने लिए होते है या उसे रजिस्टर किया होता है इसीलिए डोमेन को रजिस्टर करना एक आवश्यकता होती है।

किसी भी डोमेन नाम के अंतिम अक्षर क्या दर्शाते है?

दोस्तों किसी भी डोमेन नाम में आपने देखा होगा की नाम के बाद डॉट [.] होता है और उसके बाद कुछ दो या तीन अक्षर होते है। और इसे हम डोमेन नाम कहते है। डॉट के पहले जो नाम है वो होता है डोमेन नाम और डॉट के बाद में जो दो तीन अक्षर होते है वो डोमेन का एक्सटेंशन होते है जो डोमेन के लेवल को दर्शाते है।

Subscribe to our newsletter!

[newsletter_form type=”minimal”]

9 thoughts on “सही डोमेन नाम कैसे ख़रीदे वेबसाइट के लिए

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Scroll to top